Trending
Search

मॉनसून का फायदा, सरकार ने लगाया 27.19 करोड़ टन के रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान

अच्छे मानसून का हवाला देते हुए केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 में रिकॉर्ड 27.198 करोड़ टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान लगाया है। अनुमान के मुताबिक गेहूं और दालों का का उत्पादन क्रमशः 9.664 करोड़ टन और 2.214 करोड़ टन के साथ रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच सकता है। सरकार का कहना है कि अच्छे मॉनसून से खाद्यान उत्पादन को फायदा मिलेगा।

क्या है सरकार का अनुमान:

सरकार के अनुमान के मुताबिक मौजूदा वित्त वर्ष में कुल खाद्यान्नअ उत्पामदन 27.198 करोड़ टन रह सकता है, जबकि इससे पहले 2013-14 में रिकॉर्ड 26.504 करोड़ टन खाद्यान्नस उत्पापदन हुआ था। मौजूदा वित्त वर्ष का उत्पारदन भी विगत 5 साल (2011-12 से 2015-16) के औसत खाद्यान्न उत्पानदन की तुलना में 1.497 करोड़ टन ज्यादा है। मौजूदा वर्ष का उत्पासदन 2015-16 के उत्पा़दन की तुलना में 2.041 करोड़ टन ज्यादा है। आपको बता दें कि सूखे के कारण बीते साल खाद्यान्न उत्पादन घटकर 25.157 करोड़ टन हुआ था। वहीं 2013-14 में 26.50 करोड़ टन अनाज देश में पैदा हुआ था।

दलहन और तिलहन में रिकॉर्ड पैदावार का अनुमान:

इस साल देश में दलहन के रिकॉर्ड पैदावार होने का अनुमान है। सरकार के उठाए कदमों की वजह से दलहन का उत्पादन 2.21 करोड़ टन रह सकता है। बीते साल देश में 1.63 करोड़ टन दलहन का उत्पादन हुआ था। आपको बता दें कि देश में दालों की खपत 2.3 से 2.4 करोड़ टन है। वहीं मोटे अनाज का उत्पादन 4.43 करोड़ टन होने का अनुमान है, पिछले साल 3.85 करोड़ टन पैदा हुआ था।

अगर तिलहन की बात करें तो इस साल देश में तिलहन का उत्पादन भी रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच सकता है। सरकारी अनुमान के मुताबिक 3.36 करोड़ टन तिलहन पैदा होने की उम्मीद है। इसमें सोयाबीन 1.41 करोड़ टन, मूंगफली 84.7 लाख टन और कैस्टरसीड 17.4 लाख टन शामिल है। बीते साल 2.52 करोड़ टन तिलहन पैदा हुआ था।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *