Trending
Search

अरविंद सुब्रमण्यम बोले नोटबंदी ने देश की इकोनॉमी में नकदी को 20 फीसद कम कर दिया

भारतीय अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी के असर पर बोलते हुए मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) अरविंद सुब्रमण्यन ने कहा कि देश की इकोनॉमी में इसके बाद नकदी की संख्या में 20 फीसद की कमी आई है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने नोटबंदी का फैसला बीते साल 8 नवंबर को लिया था जिसके कारण 9 नवंबर 2016 से ही देश में 500 और 1000 रुपए के नोट अमान्य कर दिए गए थे।

क्या बोले अरविंद सुब्रमण्यन:

वित्त वर्ष 2016-17 के आर्थिक सर्वेक्षण की एक ब्रीफिंग में सुब्रमण्यम ने कहा, “देश की इकोनॉमी में कैश की संख्या में कमी आई है, नोटबंदी से पहले की स्थिति के मुकाबले इकोनॉमी में 20 फीसद नकदी कम हुई है।” उन्होंने आगे कहा कि नकदी से जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) का अनुपात 1.6 फीसद अंक नीचे आ गया है।

नोटबंदी के बाद अमान्य कर दिए गए बड़े मूल्यवर्ग के नोटों के कारण करेंसी के सर्कुलेशन में तेज गिरावट देखने को मिली है। एक सर्वे कहता है कि 31 मार्च 2017 को खत्म हुए वित्त वर्ष के दौरान करेंसी सर्कुलेशन सिकुड़कर 19.7 फीसद के स्तर पर आ गया, जबकि आरक्षित धन 12.9 फीसद की दर से घट गया। सुब्रमण्यम ने कहा नोटबंदी के बाद से 31 मार्च 2017 तक लगभग 5.4 लाख नए करदाता शामिल हो गए हैं।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *