Trending
Search

पौष माह में 12 साल बाद पड़ रही है सोमवती अमावस्‍या

शिव मंत्र का जाप

सोमवार का दिन भगवान शिव का दिन है। ऐसे में सोमवार के दिन का प्रारंभ ‘ॐ नमः शिवाय’ मंत्र के जाप से करने से भगवान शिव प्रसन्न हो जाते हैं और अपने भक्तों का कल्याण करते हैं। सोमवार को व्रत पूजा करना कुंवारी लड़कियों के लिए बहुत लाभकारी होता है, ऐसी मान्‍यता है कि इस दिन शिव को प्रसन्‍न करने से कन्‍याओं को सुख सौभाग्‍य का आर्शिवाद मिलता है। अपने मनपसंद जीवनसाथी को पाने के लिए वे सोमवार के व्रत रखती हैं। आज सोमवती अमावस्‍या होने के कारण इस दिन का महत्‍व और भी बढ़ गया है। इस बार पौष माह में सोमवती अमावस्या 12 साल बाद पड़ रही है। इससे पहले साल 2005 में 10 जनवरी को यह संयोग पड़ा था।

 

आसानी से होते हैं शिव प्रसन्‍न

भगवान शिव को भोलेनाथ भी कहा जाता है क्‍योंकि उनको प्रसन्न करना बहुत आसान होता है इसलिए अपनी किसी इच्छा को पूरा करने के लिए श्रद्धालु सोमवार के दिन व्रत रखते हैं। सोमवार का व्रत सूर्योदय के साथ ही शुरू हो जाता है और सूर्यास्त के तक चलता है। इसलिए इस दिन के व्रत में सूर्य के ढलने के बाद भोजन किया जा सकता है। कुछ लोग पूजा करके दोपहर बाद फल या साबूदाने की खिचड़ी जैसे फलाहार भी खा लेते हैं।

 

ये बातें हैं खास

सोमवार के दिन सफेद कपड़े पहनने से और शिवलिंग पर सफेद फूल चढ़ाने से मनोकामनायें पूरी होती है। इस दिन अमावस या पूर्णिमा पड़ना बहुत शुभ माना जाता है। जैसे आज के दिन सोमवती अमावस्या पड़ रही है। आज व्रत करने वालों को शिव की कृपा का विशेष वरदान मिलता है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *