Trending
Search

वो 5 क्रिकेटर्स जिनके बच्चे भी क्रिकेट में नाम कमा रहे हैं

हमारी क्रिकेट स्मृतियों में कुछ खिलाड़ियों की बेहद खास यादें हैं. उन्हें जब खेलते देखते थे तो बस देखते ही रहते थे. जब वो रिटायर हुए तो लगा कि अब कुछ मिसिंग है. मगर अब कुछ सालों बाद उनके बच्चों को भी वही खेल खेलते देखना अच्छा लगता है. एेसा लगता है कि अपने फेवरेट खिलाड़ी के शुरुआती दिनों को देख रहे हैं. स्वागत कीजिए ऐसे ही 5 बच्चों का जिनके नाम के पीछे बड़े क्रिकेटर का नाम लगा है.

#1 राहुल द्रविड़ का बेटा भी है क्लासिक बल्लेबाज

राहुल द्रविड़ ने अपनी बैटिंग से ‘दी वॉल’ टाइटल जीता. दुनिया ने उनकी बैटिंग का लोहा माना. अब इनका 11 साल का बेटा समित भी बल्लेबाज बन रहा है. अंडर-19 टीम के कोच द्रविड़ और पूर्व भारतीय स्पिनर सुनील जोशी के बेटों समित और आर्यन ने एकदम सचिन-कांबली स्टाइल में क्रिकेट करियर शुरू किया है. समित-आर्यन की जोड़ी ने कर्नाटक स्टेट क्रिकेट असोसिएशन के बीटीआर कप के अंडर-14 इंटर स्कूल टूर्नामेंट में एक पार्टनरशिप की है. समित ने अपने स्कूल माल्या अदिति इंटरनेशनल के लिए खेलते हुए 150 रन की पारी खेली, वहीं आर्यन ने 154 रन बनाए. दोनों की इस पारी के बूते टीम ने 50 ओवर में 500 रन जोड़ दिए. सामने वाली टीम महज 88 रन पर आउट हो गई. इस तरह मैच 412 रनों से जीत गई समित-आर्यन की टीम.

समित द्रविड़ ने 2015 में अंडर-12 में गोपालन क्रिकेट चैलेंज में खेलते हुए तीन हाफ सेंचुरी मारी थीं जिसके लिए इस उभरते प्लेयर को बेस्ट बैट्समेन मिला था. क्रिकेट को पसंद करने वाले अब इस जूनियर द्रविड़ को पिता की तरह बड़ा बैटसमेन बनता देखने की उम्मीद कर रहे हैं. वहीं अभी बांग्लादेश के स्पिन कोच की भूमिका निभा रहे सुनील जोशी के बेटे ने भी उम्मीदें जगाई हैं.

#2 सचिन तेंडुलकर का बेटा फास्ट बॉलर

दुनिया में इस समय किसी बच्चे की ओर सबसे ज्यादा उम्मीदों से देखा जा रहा है तो वो हैं अर्जुन तेंडुलकर. सचिन तेंडुलकर के बेटे अर्जुन पर अपने पिता के नाम का सबसे ज्यादा दबाव है. कभी सीनियर टीम के नेट्स में बॉलिंग प्रैक्टिस करते दिखने वाले अर्जुन ने 11 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के सिडनी ग्राउंड पर अपनी परफॉर्मेंस से सबको चौंकाया है. 18 साल के अर्जुन यूं तो तेज गेंदबाज बनने की राह पर हैं, मगर यहां क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया के लिए ओपनिंग करते हुए टी20 मैच में अर्जुन ने 27 गेंदों में 48 रन मारे और फिर 4 विकेट भी लिए. इससे पहले भी मुंबई के लिए अंडर-19 कूच बिहार ट्रॉफी में खेलते हुए अर्जुन ने एक मैच में 5 विकेट लिए थे.

#3 स्टीव वॉ का ऑलराउंडर बेटा 

लंबे समय तक ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी करने वाले स्टीव वॉ को खेलते तो देखा ही होगा. अब बेटा ऑस्टिन वॉ भी क्रिकेट की दुनिया में आ चुका है. न्यूजीलैंड में 13 जनवरी से शुरू हुए अंडर-19 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की टीम का हिस्सा है ऑस्टिन. पिता की तरह ये भी ऑलराउंडर हैं और अंडर-17 से ही काफी अच्छा परफॉर्म करते आ रहे हैं. अंडर-17 नेशनल चैंपियनशिप के फाइनल में नाबाद शतक मारकर ऑस्टिन नजर में आए थे.13 जनवरी से 3 फरवरी तक चलने वाले इस अंडर-19 वर्ल्ड कप में ऑस्टिन अहम रोल निभा सकते हैं.

#4 मिलिए जूनियर मखाया एंटिनी

साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज रहे मखाया एंटिनी को तो नहीं ही भूले होंगे आप. अब इनका बेटा भी क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम कर रहा है. थांडो एटीनी नाम है. साउथ अफ्रीका की अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा है ये तेज गेंदबाज जो एकदम अपने पिता की तरह दिखता है और बॉलिंग स्टाइल भी वही है.

पिता की तरह तेज गेंदबाजी करता है ये 17 साल का युवा क्रिकेटर. 9 जनवरी को इंडिया के खिलाफ वॉर्मअप गेम में थांडो ने 2 विकेट लिए थे.
101 टेस्ट और 173 वनडे खेलने वाले मखाया एंटिनी ने गेदबाजी में कई कीर्तिमान रचे हैं. टेस्ट में इस तेज गेंदबाज ने 699 विकेट और वनडे में 199 विकेट अपने नाम किए हैं. खास बात ये कि मखाया ने भी अंडर-19 वर्ल्ड कप खेला था.

#5 शिवनायायण चंद्रपॉल का बेटा

एक समय में वेस्टइंडीज टीम के सबसे भरोसेमंद बैटसमेन रहे इस खिलाड़ी को भूलना नामुमकिन सा लगता है. नाम है शिवनारायण चंद्रपॉल. लेफ्टी बैट्समैन जो खेलता तो ब्रायन लारा की तरह दिखता. मगर अब इस क्लासी बैट्समेन का बेटा भी क्रिकेट खेल रहा है. नाम है तेगनारायण चंद्रपॉल. 21 साल के तेगनारायण अब तक 23 फ्रर्स्ट क्लास मैच खेल चुके हैं. मार्च 2017 में एक मैच में बाप-बेटे ने साथ बैटिंग करते हुए अर्धशतक लगाए थे. गुयाना टीम के लिए खेलते हुए तेगनायारण ने ओपनिंग की थी और खुद शिवनारायण तीसरे नंबर पर बैटिंग कर आए थे.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *