Trending
Search

Market Update: सेंसेक्स 28 अंक चढ़कर 34221 के स्तर पर, रियल्टी शेयर्स में खरीदारी

शेयर बाजार में मामूली बढ़त देखने को मिल रही है। करीब 11.15 बजे प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 28 अंक की तेजी के साथ 34221 के स्तर पर और निफ्टी 19 अंक की मामूली बढ़त के साथ 10518 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप इंडेक्स में 0.87 फीसद और स्मटलकैप में 2.02 फीसद की बढ़त देखने को मिल रही है। इस दौरान सबसे ज्यादा तेजी रियल्टी शेयर्स में देखने को मिल रही है। निफ्टी में शुमार शेयर्स में से सबसे ज्यादा तेजी हिंदपेट्रो, ऑरोफार्मा, ओएनजीसी, कोल इंडिया और इंडिया बुल्स हाउसिंग फाइनेंश के शेयर्स में देखने कोमिल रही है।

करीब 9.30 बजे 

मंगलवार को शेयर बाजार में आई तेज गिरावट के बाद अब शेयर बाजार में तेजी दिख रही है। 9 बजकर 25 मिनट के करीब सेंसेक्स 250 अंकों की तेजी के साथ 34,446 पर और निफ्टी 71 अंकों की तेजी के साथ 10,564 पर कारोबार करता देखा गया।

निफ्टी में शुमार 50 शेयर्स में से 40 हरे निशान में और 10 लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। वहीं मिडकैप और स्मालकैप शेयर्स में भी तेजी देखने को मिल रही है। मिडकैप शेयर्स में 1.54 फीसद और स्मालकैप में 2.57 फीसद की तेजी देखने को मिल रही है।

कैसा है सेक्टोरियल इंडेक्स का हाल: सभी सेक्टोरियल इंडेक्स हरे निशान में कारोबार कर रहे हैं। बैंक निफ्टी में 0.50 फीसद, निफ्टी ऑटो में 1.17 फीसद, फाइनेंस सर्विस 0.20 फीसद, एफएमसीजी 0.68 फीसद, आईटी 0.03 फीसद, मेटल 2.25 फीसद, फॉर्मा 0.19 फीसद, पीएसयू बैंक 1.33 फीसद और रियल्टी में 2.60 फीसद की तेजी देखने को मिल रही है।

वैश्विक बाजारों का हाल: आज वैश्विक बाजारों में भी तेजी देखने को मिल रही है। जापान का निक्केई 436 अंकों की तेजी के साथ 22046 के स्तर परल कारोबार कर रहा है। वहीं चीन का शांघाई एक्सचेंज 27 अंकों की गिरावट के साथ 3343 के स्तर पर, और हैंगसेंग 386 अंकों की तेजी के साथ 30,981 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। अमेरिकी बाजारों की बात करें तो डाओ जोंस 567 अंकों की तेजी के साथ 24912 पर और एसएंडपी500 46 अंकों की तेजी के साथ 2695 पर कारोबार कर रहा है।

आरबीआई की मॉनीटरी पॉलिसी भी आज: आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की अहम बैठक भी आज है। हालांकि इस अहम बैठक नीतिगत ब्याज दरों में किसी भी फेरबदल की गुंजाइश कम है। बढ़ता क्रूड और तेजी से बढ़ रही महंगाई  के बीच आरबीआई के पास नीतिगत दरों में किसी भी बदलाव की गुंजाइश कम है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *