Trending
Search

जानिए, गरीबों का मसीहा बताने वाले नक्‍सली कैसे खुद बैठे हैं कुबेर के खजाने पर

गरीबों का मसीहा बताने वाले नक्‍सली गरीबों का ही शोषण कर खुद कुबेर के खजाने पर बैठे हैं। इसका खुलासा पुलिस की छानबीन में तब हुआ, जब उनकी संपत्ति जब्ती की कार्रवाई होने लगी। छह महीने के अंदर झारखंड के जिन 15 नक्सलियों की संपत्ति जब्त की गई है, उसकी कीमत करोड़ों में है। अब भी ऐसे दर्जनों नक्सली हैं, जिनके कुबेर के खजाने की तलाश पुलिस कर रही है। अगला निशाना 15 लाख रुपये का इनामी और माओवादियों की रीजनल कमेटी का सदस्य नवीन यादव है।

पुलिस ने उसकी 7.50 करोड़ रुपये की संपत्ति चिह्नित कर ली है। अब शीघ्र जब्ती की कार्रवाई करेगी। इसके साथ ही दस अन्य बड़े नक्सली भी लाइन में हैं जिनकी संपत्ति शीघ्र जब्त की जाएगी। समाज के लोगों और ग्रामीणों के बीच खुद को शुभचिंतक घोषित करने वाले नक्सलियों की अब पोल खुलती जा रही है। खुद रईसों की जिंदगी जीने वाले ये नक्सली गरीबों को ही अपना ढाल बनाते हैं। गरीबों की मदद से ही ये नक्सली खनन-पट्टा में रंगदारी वसूलते हैं, अपहरण व हत्या जैसी वारदात को अंजाम देते हैं, दहशत पैदा करते हैं और लेवी वसूलकर अपनी झोली भरते हैं। इतना ही नहीं गरीबों के बच्‍चों को जबरन नक्‍सली संगठन में शामिल करते हैं और अपने बच्‍चों को राज्‍य के बाहर ऊंची शिक्षा दिला रहे हैं।

ऐसे हुआ खुलासा

हाल ही में माओवादियों की बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमेटी के सदस्य और 25 लाख के इनामी संदीप यादव की जब चल अचल संपत्ति जब्‍त की तो चौंकाने वाले तथ्‍य सामने आए। 88 कांडों के इस वांछित नक्सली पर आरोप है कि उसने गरीबों व उनके नाबालिग बच्चों को हथियार थमा जबरन नक्सली बना दिया। वहीं, खुद के बेटे को रांची के प्रतिष्ठित संस्थानों में पढ़ाया। संदीप यादव का एक बेटा रांची के पुरुलिया रोड स्थित एक प्रतिष्ठित कॉलेज में पढ़ता है तो दूसरा बेटा पटना के एक प्रतिष्ठित संस्थान से इंजीनियरिंग कर रहा है। एक बेटी को हॉस्टल में रखकर महंगी फीस जमा कर रहा है। इतना ही नहीं संदीप यादव ने अपनी एक बेटी की शाही तरीके से दिल्ली में शिक्षक से की। दोनों के लिए दिल्ली के रिहाइशी इलाके में एक फ्लैट भी बुक करवाया है।

इन नक्‍सलियों ने लेवी से अर्जित की लाखों की संपत्ति, जिसे पुलिस ने किया जब्‍त

– दिनेश गोप : खूंटी जिले के कर्रा के लापा का निवासी है। नक्‍सली संगठन पीपुल्‍स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया का सुप्रीमो है। रांची व खूंटी में एक करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्‍त की गई है।

– भीखन गंझू उर्फ दीपक भोक्ता : चतरा के पिपरवार का निवासी और टीपीसी का सदस्य है। इसकी एक करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है।

– लक्ष्मण गंझू : चतरा जिले के लावालौंग के नावाडीह का‍ निवासी और नक्‍सली संगठन तृतीय प्रस्‍‍तुति कमेटी का सदस्य है। इसकी 61 लाख की संपत्ति जब्‍त की गई है।

– आक्रमण उर्फ रवींद्र गंझू : चतरा के ही लावालौंग के मनातू का निवासी है। यह भी तृतीय प्रस्तुति कमेटी का सदस्य है। इसकी 58 लाख 50 हजार रुपये की संपत्ति जब्‍त की गई है।

– रोहित यादव : लातेहार के चंदवा का निवासी है। भाकपा माओवादी का सदस्य है। इसकी 25 लाख 15 हजार रुपये की संपत्ति जब्त की गई।

– अमर सिंह भोक्ता उर्फ जगन गंझू उर्फ लक्ष्मण गंझू, उर्फ कोहराम : चतरा जिले के लावालौंग का निवासी है। नक्‍सली संगठन तृतीय प्रस्तुति कमेटी का सदस्य है। इसकी 64 डिसमिल जमीन जिसपर दो मंजिला मकान बना है को पुलिस ने जब्‍त कर लिया है।

– कमलेश गंझू : चतरा के लावालौंग का ही निवासी है। तृतीय प्रस्तुति कमेटी का सदस्य है। इसकी 36 लाख 14 हजार रुपये की संपत्ति जब्‍त की गई है।

– नुनुचंद महतो उर्फ नुमा उर्फ गांधी : गिरिडीह के भेलवाघाटी का निवासी है। भाकपा माओवादी का सदस्य है। इसकी छह लाख की संपत्ति जब्‍त की गई है।

– रणविजय महतो उर्फ नेपाल महतो : बोकारो जिले के चंद्रपुरा का निवासी और भाकपा माओवादी का सदस्य है। इसकी 11 लाख की संपत्ति जब्त की गई है।

– जीदन गुडिय़ा : खूंटी के तोरपा के कोचा का निवासी है। नक्‍सली संगठन पीपुल्‍स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया का हार्डकोर है। इसकी लाखों की संपत्ति जब्‍त की गई है।

– सत्यनारायण रेडडी : तेलंगाना का निवासी और भाकपा माओवादी सदस्य है। इसके पास से 25 लाख 15 हजार एक सौ रुपये नकद व आधा किलोग्राम सोना जब्त।

– कुंदन यादव : पलामू के मनातू के अदौरिया का निवासी और भाकपा माओवादी का सदस्य है। इसकी 29 एकड़ जमीन जब्त की गई है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *